0 Comments

ब्रह्माण्ड और सौरमण्डल

ब्रह्माण्ड एवं सौरमण्डल, ब्रह्माण्ड और सौरमण्डल, ब्रह्माण्ड का अर्थ, सौरमण्डल क्या है, ब्रह्माण्ड और सौरमंडल…

We Study ClassesStudy24Hours ExamsS24H Class 11 & 12


ब्रह्माण्ड का अर्थ

ब्रह्माण्ड के अंतर्गत सभी आकाशीय पिण्डों एवं उल्काओं तथा समस्त सौर परिवार (सूर्य, चन्द्रमा आदि) का अध्ययन किया जाता है। ब्रह्माण्ड में  अनन्त तारे, ग्रह, उपग्रह, एवं अन्य आकाशीय पिण्ड शामिल हैं।

> मंदाकिनी को आकाशगंगा (Milkyway) भी कहा  जाता है। हमारी मंदाकिनी (Galaxy) या आकाश गंगा सर्पिलाकार (Spiral) है।

> सबसे नयी ज्ञात मंदाकिनी ड्वार्फ मंदाकिनी है। हमारी मंदाकिनी को. सर्वप्रथम गैलिलियो ने देखा था।

> सूर्य पृथ्वी के सबसे निकट का तारा है। प्रॉक्सिमा सेंचुरी सूर्य के बाद पृथ्वी का सबसे निकटतम तारा है।

> साइरस पृथ्वी से देखा जानेवाला सबसे चमकीला तारा है। इसे लब्धक या ब्याध भी कहा जाता है। हमारी आकाशगंगा के सर्वाधिक नजदीक आकाश गंगा एंड्रोमेडा है।


सौरमण्डल क्या है

सूर्य, सौरमण्डल का प्रमुख है, जिसका व्यास 13,92,200 किमी. है जो पृथ्वी के व्यास का लगभग 110 गुना है।

यह हमारी आकाशगंगा दुग्धमेखला के केन्द्र से लगभग 30 हजार प्रकाश वर्ष की दूरी पर एक कोने में अवस्थित है।

सूर्य मंदाकिनी (आकाशगंगा) के केन्द्र के चारों ओर 250 किमी. प्रति सेकेण्ड की गति से परिक्रमा कर रहा है। इसका परिक्रमा काल 25 करोड़ वर्ष है, जिसे ब्रह्माण्ड वर्ष (cosmos year) कहा जाता है।

सूर्य अपने अक्ष पर पूर्व से पश्चिम की ओर घूमता है। इसका मध्य भाग 25 दिनों में तथा ध्रुवीय भाग 35 दिनों में एक घूर्णन पूरा करता है।


More Important Topics For You!

Tags: ब्रह्माण्ड एवं सौरमण्डल, ब्रह्माण्ड और सौरमण्डल, ब्रह्माण्ड का अर्थ, सौरमण्डल क्या है, ब्रह्माण्ड और सौरमंडल

Write a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *